कविताएं और भी यहाँ ..

Monday, November 16, 2009

tum

तेरे होने से जीवन में कुछ ऐसा नया सा है ,

कि तेरे न होने का सोच के ही डर जाता हूँ मैं |
तुम मेरी हर बात को अर्थ देते हो सदा नया ,
तेरे न होने से बेमतलब सा हो जाता हूँ मैं

1 comment:

MANOJ KUMAR said...

तेरे बिना जिन्दगी अर्थहीन। बहुत अच्छा।