कविताएं और भी यहाँ ..

Wednesday, October 28, 2009

मरना होता तो हम किसी पे भी मर जाते,
पर इस ज़िन्दगी को बहाने कम पड़ते है,
यु तो खुशिया बहुत पर गम बेहतर है उनसे ,
क्योकि अपने गम सुनाने कम पड़ते है

4 comments:

MANOJ KUMAR said...

हो न उदास मयंक तू मुस्कुराता जा,
मौत में भी ज़िन्दगी के फूल कुछ खिलाता जा।
जाना तो हर एक को है एक दिन जहान से,
हर पल खुशियों भरा गीत गुनगुनाता जा।

Manish said...

भाई कहाँ से छाप रहे हो ??

soummya said...

यु तो खुशिया बहुत पर गम बेहतर है उनसे ,
क्योकि अपने गम सुनाने कम पड़ते है

awesome lines...as every man has his secret sorrows which the world doesn't know and often we call a man cold when he is only sad.
just wanna add a quote
"Sorrow is tranquillity remembered in emotion."

Pramod Sharma said...

बहुत ही बेहतर दोस्त..

इक दर्द ही है जो मेरा है,
खुशियाँ तो सबसे से बाँट ली मैंने |